प्रतिदिन लग रहा है जाम

जमानियां समाचार १२ अक्टू. २०१७

जमानिया। स्थानीय  क्षेत्र को जनपद से जोड़ने वाली मुख्य सड़क राष्‍ट्रीय राज्‍य मार्ग 24 बीते कई वर्षों से  खस्ता हाल है।  जिसकी वजह से आए दिन राहगीरों को जाम के झाम से गुजरना पड़ता है। बुधवार की सुबह एनएच पर राघोपुर गांव के पास बने बडे गढडे में एक के बाद एक ट्रक के फंस जाने से  सड़क के दोनों ओर  वाहनों की लंबी कतार लग गयी । यह गनिमत रही की एक ओर से आवागमन शुरू रहा और छोटे वाहनों का आवागमन होता रहा । गुरूवार देर शाम तक आवागमन बाधित रहा ।

ज्ञात हो कि एनएच 24 को एमडीआर सड़क हुआ करती थी। जिसे वर्ष 2004 में इस सडक को एमडीआर से हटा कर राष्‍ट्रीय राज मार्ग का दर्जा मिला । जिसके बाद भी सडक के हालत में सुधार नही हुआ। उसी समय से ही सड़क के निर्माण के नाम पर धन का लूट घसौट होता रहा और नतीजा यह हुआ कि एनएच पर बडे बडे गड्ढे हो चुके है और यह कहना मुश्‍किल हो गया है कि गड्ढा कहा है और सडक कहा। इस सडक की हातल को सुधारने के लिए सरकार ने इसे एनएच से एनएचआई दिम्‍बर माह वर्ष 2016 में घोषित कर दिया। जिसके बाद भी सडक की दशा ज्‍यो कि त्‍यो बनी हुई है। वही 1 अक्टूबर से बालू लादे ट्रको के आवागमन शुरु हो जाने से छोटे गढडे बडे हो गये है और उसमें पानी बरस जाने से गढडे में पानी लग गया है और गिली मिट्टी की वजह से ट्रक के एक बाद एक धंस रहे है। जिसके चलते लगतार रूक रूक कर एक हफ्ते से इस सडक पर जाम लग रहा है। ग्राम रघुनाथपुर के पास विशालकाय गड्ढे मे लगातार ट्रको के फंस जाने से जाम लग रह है। जिससे स्कूली बसो और नियमित नौकरी के बाबत आने जाने वाले परेशान हो रहे है। स्कूली बसो के जाम मे फस जाने से बच्चो को घर पहुचने मे शाम 6 या 7 बज जा रह है। वही रोज कही ना कही गड्ढे मे बाइक सवार गिर कर घायल हो रहे है। ऐसा नहीं है कि विभागीय कर्मचारियों और अधिकारियों को इसकी खबर नहीं है। खबर है और इनके माकूल अधिकारियों द्वारा प्राकलन बनाकर भेजा जा चुका है। धन की स्वीकृति अब तक प्राप्त नहीं हुई है । जिस कारण से कार्य शुरू नहीं किया जा सका है। खबर भेजे जाने तक जाम लगा हुआ है। गनीमत है कि एक ओर से छोटे वाहन का आवागमन हो रहा है। इस संबंध में एक्‍सजीक्‍युटीव इंजिनियर समर सिंह ने बताया कि सडक बिते वर्ष माह दिसम्‍बर में एनएचआई में आया है। जिसके बाद सर्वे करा कर रिर्पोट भेजी गयी है। वही इसके गड्ढा मुक्‍त करने व निर्माण के लिए जिसका प्राकलन बना कर भेजा गया है। जिसकी स्‍वीकृती दिसम्‍बर माह तक मिलने के आसार है और स्‍वीकृती के बाद से ही कार्य शुरू कर दिया जाएगा। वही गड्ढो को भरने का कार्य भी समय समय से विभाग द्वारा कराया जा रहा है। 

विज्ञापन

विज्ञापन

विज्ञापन

विज्ञापन


हमसे जुडें

खबरो को लगातार पढने के लिए नीचे अपना ईमेल पता दर्ज करें।

कनेक्ट करें और अनुसरण करें