ग्‍यारह माह बाद एक साथ सार्वजनिक मंच पर द‍िखे प‍िता-पुत्र

जमानियां समाचार १२ अक्टू. २०१७

लखनऊ। समाजवादीयों के लिए हो सकता है कि कोई सुखद समाचार मिले, ऐसे कयास राम मनोहर लोहिया जी का 51 वां स्मृति दिवस पर सपा के संरक्षक मुलाम सिंह यादव और सपा अध्‍यक्ष व पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव को एक मंच पर देखने के बाद लगाये जा रहा है। जो सपाइयों में एक नए जोश के संचार के लिए काफी था। 

यह ये तो समय बतायेगा कि पारिवारीक विवाद समाप्‍त होगा की नही लेकिन यह तो तय है कि दोनो महारथियों को एक मच पर देख कार्यकर्ताओं में जोश जबरदस्‍त दिखाई दिया। ऐसा समय दोनों के लिए किसी सार्वजनिक जगह पर एक साथ ग्यारह माह बाद आये है। मौका राम मनोहर लोहिया जी का 51 वां स्मृति दिवस का था जब सपा के संरक्षक मुलाम सिंह यादव और सपा अध्‍यक्ष व पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव को एक मंच पर देखे । हालांकि इस दौरान लोहिया पार्क में शिवपाल यादव तो नही दिखे अलबत्ता सवा नव बजे के करीब मुलायम सिंह  यादव लोहिया ट्रस्ट गये जहां  पहले से ही शिवपाल सिंह यादव मौजूद थे और मुलायम सिंह यादव के साथ लोहिया जी का माल्यर्पण किये और मुलायम सिंह यादव वहा से लोहिया पार्क के लिए निकल पड़े। हालांकि मुलायम सिंह यादव शिवपाल सिंह यादव व अखिलेश यादव दोनो के साथ अलग अलग नजर आये परन्तु शिवपाल सिंह यादव व अखिलेश यादव दोनो एक साथ नजर नही आये। जिसकी चर्चा भी जोर शोर से रही। वही दोनो दिग्‍गजो को एक साथ मंच पर देख कार्यताओं में उत्‍साह का ठिकाना रही रहा और कार्यकर्ता खुशी से झूमने लगे। लोगो का कहना था कि परिवार में आंतरिक विवाद समाप्‍त होने के कगार पर है और जल्‍द सब कुछ सामान्‍य होगा। 

विज्ञापन

विज्ञापन

विज्ञापन

विज्ञापन


हमसे जुडें

खबरो को लगातार पढने के लिए नीचे अपना ईमेल पता दर्ज करें।

कनेक्ट करें और अनुसरण करें